Computer ROM kya hai इसकी विशेषताएं  प्रकार हिंदी में 

Computer ROM kya hai इसकी विशेषताएं  प्रकार हिंदी में 

Computer ROM kya hai ROM का पूरा नाम होता है  Read Only Memory दोस्तों इस डाटा को केवल पढ़ा जा सकता है लेकिन इस  Read Only Memory में  डाटा को नहीं जोड़ सकते और ROM एक प्रकार की Non-Volatile Memory होती है और दोस्तों ROM का उपयोग कंप्यूटर में फंक्शनेलिटी से संबंधित data आपके कंप्यूटर में स्टोर रहता हैं

और दोस्तों ROM कंप्यूटर को ऑन करने के निर्देश की बात की जाए तो बाह इसी मेमोरी में स्टोर रहते हैं जिसे आप लोग booting memory भी कहते हैं कंप्यूटर के अलावा इसका इस्तेमाल माइक्रोवेव वॉशिंग मशीन और कई सारे अन्य इलेक्ट्रिकल उपकरणों में किया जाता है क्योंकि इस ROM के द्वारा इन्हें प्रोग्राम किया जाता है

और दोस्तों इस ROM की सबसे अच्छी खासियत यह है कि इसमें डाटा हमेशा के लिए स्टोर देता है जबकि ram में पावर ऑफ होने पर डाटा डिलीट हो जाता है लेकिन ROM में आपका डाटा पावर ऑफ होने के बाद भी डिलीट नहीं होता है दोस्तों ROM की सबसे बड़ी बात यह है कि इसमें आपको डाटा आप एक बार wright करके दे दिया जाता है और इसके बाद इसके डाटा के साथ बिल्कुल भी छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है यानी कि ROM में जो भी डाटा रहता है वाह स्टोर रहता है जबकि ram में जो data रहता है वाह टेम्परेरी रहता है

 ROM की विशेषताएँ – Characteristics of Computer ROM in Hindi

दोस्तों ROM की विशेषताएं की बात की जाए तो ROM एक स्थाई मेमोरी होती है यानी कि इसका डाटा डिलीट नहीं होता है और जो भी बेसिक फंक्शन आईटी निर्देश देते हैं  वाह  स्टोर होते हैं और इसका काम केवल रीडेबल होता है ROM की बात की जाए तो ram की तुलना में काफी सस्ती होती हैं ROM सीपीयू का ही एक भाग होती हैं

 ROM के विभिन्न प्रकार – Types of ROM in Hindi

  • MROM
  • PROM
  • EPROM
  • EEPROM

1 MROM क्या है 

दोस्तों पहले नंबर पर आती है mrom और mrom नाम के पूरे नाम Mask Read Only Memory  होता है और दोस्तों इस mrom memory को जब बनाया जाता है तब इसके डिवाइस में मैन्युफैक्चरिंग द्वारा प्रोग्राम किया जाता है और दोस्तों mrom अन्य रोम की तुलना में काफी सस्ती होती हैं और इनकी सबसे अच्छी खास बातें होती है कि इनमें कम स्पेस में भी काफी ज्यादा डाटा को स्टोर करने की क्षमता रहती है इसका मतलब यह है कि इनमें डाटा Data Store Density अधिक होती है

2 PROM क्या है

दोस्तों दूसरे नंबर पर जिसका नाम आता है वह PROM इसका पूरा नाम Programmable Read Only Memory है और दोस्तों PROM की सबसे खास बात यह है कि इसमें डाटा को एक बार लिख दिया जाता है वह हमेशा रहता है दोस्तों इस PROM में डाटा को डिलीट करने के लिए कुछ खास किस्म के उपकरणों का यूज किया जाता है और उन्हें PROM प्रोग्राम कहते हैं और दोस्तों इसमें डाटा WRIGHT करने की प्रक्रिया को हम PROM Burning कहते हैं

3 EPROM क्या है 

EPROM तीसरे नंबर पर आती है EPROM  के फुल नेम की बात की जाए तो इसका फुल नाम है Erasable Programmable Read Only Memory दोस्तों जैसे कि इसके नाम से ही आप समझ गए होंगे कि EPROM  में डाटा को मिटाया जा सकता है और दोस्तों EPROM  में डाटा मिटाने के लिए कुछ खास किस्म की अल्ट्रावायलेट लाइट का यूज किया जाता है

4. EEPROM

EEPROM दोस्तों चौथे नंबर पर आता है कि EEPROM के पूरे नाम की बात की जाए तो इसका पूरा नाम Electrically Erasable Programmable Read Only Memory होता है और दोस्तों इस EEPROM की सबसे खास बात यह है कि इसमें किसी भी डाटा को आप Electrical Charge द्वारा काफी आसानी से मिटा सकते हैं और यह अन्य ROM की तुलना में थोड़ी धीमी भी होती हैं

RAM और ROM मे अंतर (difference between ram and rom in hindi

दोस्तों अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा कि RAM और ROM में क्या अंतर होता है तो चलिए जानते हैं RAM और ROM में क्या अंतर होता है

  • RAM की बात की जाए तो कम कीमत में काफी महंगी होती है जबकि ROM की बात की जाए तो हम कीमत में काफी सस्ती होती है
  • RAM की बात की जाए तो RAM के आकार काफी होता है जैसे कि गेम स्टार्टिंग में 64 एमबी से आती थी लेकिन अभी यह 16GB तक आ रही है लेकिन ROM  की बात की जाए तो यह साइज में काफी छोटी होती हैं
  • दोस्तों RAM का डाटा को आप काफी आसानी से डिलीट कर सकते हैं और RAM का काम ही यही होता है जैसे ही कंप्यूटर या कोई भी मशीन जिसमें RAM  लगी होती है वह ऑफ  होती है उसका डाटा ऑटोमेटेकली डिलीट हो जाता है लेकिन ROM की बात की जाए तो इसके डाटा को आप पढ़ सकते हैं लेकिन इसको डिलीट नहीं कर सकते
  • दोस्तों RAM का काम होता है बडाटा को स्टोर करना जिसमें सीपीओ द्वारा चलाया जाता है जबकि हम ROM को सीपीयू के द्वारा काफी आसानी से पढ़ा जा सकता है लेकिन इसमें सीपीयू के द्वारा कोई बदलाव नहीं किए जा सकते
  • RAM की बात की जाए तो RAM में परिवर्तनशीलमेमोरी  है यानी कि इसमें डाटा हमेशा बदलता रहता है जबकि ROM की बात की जाए तो यह  स्थाई मेमोरी है और इसका डाटा कभी भी डिलीट नहीं होता
  • RAM कंप्यूटर में हार्डवेयर के रूप में मौजूद होती है और इसे आप काफी आसानी से देख और छू भी सकते हैं और ROM रूम की बात की जाए तो यह भी कंप्यूटर में हार्डवेयर के रूप में मौजूद होती है और इसे भी आप भी देख और छू सकते हैं

Computer ROM kya hai आर्टिकल कैसा लगा 

दोस्तों हमने हमारे इस आर्टिकल Computer ROM kya hai में आपको बताया है कि ROM क्या होती है और इसका इस्तेमाल किस प्रकार किया जाता है और रोम कितने प्रकार की होती हैं और इनका यूज किस किस चीज में किया जाता है अगर आपको लगता है कि हमने हमारे आर्टिकल में Computer ROM kya hai के बारे में सब कुछ बताया है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल कैसा लगा धन्यवाद thanks

Leave a Comment

error: Content is protected !!